Blogging कया हैँ? और Blogging Start कैसे करे?

Blogging कया हैँ? और Blogging Start कैसे करे?

Blogging कया हैँ? और Blogging Start कैसे करे?



Blogging Theory
Blogging

नमस्कार दोस्तों, हम Kimsar Digiworld आपके लिये एक नया Article लेकर आये हैँ तो आशा रखते हैँ की आपको पसंद आये.

दोस्तों आपके मन मे ये सवाल तो जरूर होगा की Blogging कया होता हैँ और कैसे Start करते हैँ?

तो हम आपको Blogging के बारे मे पूरी  जानकारी दे देते हैँ.

दोस्तों Blogging की शुरुआत एक कॉलेज के Student ने 1994 मे की थी और उसका नाम Justin Hall था. तब उसको Blogging नहीं लेकिन Personal Homepage कहा जाता था.


# Blogging कया हैँ? 

What Is Blogging?
What Is Blogging?

दोस्तों Blogging का मतलब होता हैँ की आपके Knowledge को Internet के माध्यम से लोगो तक पहुंचाना. Knowledge किसी भी तरह का हो सकता हैँ लेकिन आप Knowledge को Share कर सकते हो.

अगर आप Blogging Start करना चाहते हो तो आपके पास किसी एक Field का Knowledge होना जरूरी हैँ. तभी आप Blogging कर सकते हैँ.

जब आप कोई भी Topic पर Blog लिखते हैँ तो आप उसके Internet के माध्यम द्वारा Online Publish कर सकते हैँ और लोगो तक पंहुचा सकते हैँ.

Read this also:- Strategy For Website Can Increase Your Profit


# Types of Blogging

Types Of Blogging
Types Of Blogging

Blogging Start करने के लिये पहले कितने प्रकार से Blogging की जा सकती हैँ वो जानना जरुरी होता हैँ तो हम आपको Blogging के प्रकार के बारे माहिती दे देते हैँ.


1) Personal Blog

Personal Blog मे आप अपने बारे लिख सकते हैँ, आप अपना Daily Routine बता सकते हैँ और आप कही पे घूमने जाते हैँ तो वो Memories को Share कर सकते हैँ.


2) Personal Brand Blog

अगर आप कोई Motivational Speaker हैँ या Teacher हैँ तो आप अपनी Personal Profile को Promote करने के लिये Personal Brand Blog Start कर सकते हो.


3) Business Blog

अगर आपका कोई Business हैँ और आप Blogging के द्वारा अपने Business को Promote करना चाहते हो तो आप Business Blog Start कर सकते हो.


4) Personal Services Blog

अगर आप कोई Local Audience तक अपनी Services पहुँचाना चाहते हो तो आप Personal Services Blog Start कर सकते हो.


5) Repair Services Blog

अगर आप कोई भी Maintenance के Related Home Service Provide करते हो और आप उसका Promotion करना चाहते हो तो आप Repair Services Blog Start कर सकते हो.


6) Niche Blog

अगर आप कोई भी एक Specific Topic पे Blogging Start करना चाहते हैँ तो आप Niche Blog बना सकते हैँ उसके लिये आपको कोई भी एक Topic का Knowledge होना जरुरी हैँ.

हम आपको बता देते हैँ की आप कौन कौन से Topic पर Niche Blogging Start कर सकते हो.

> Food

> Music

> Gaming

> Cars

> Business

> Finance

> Sports

> Marketing

> Writing

> Movies

> Travel

> Entertainment

> Events

> Fitness

> Books

> Fashion

> Lifestyle

> Pets

> Poems

> Jokes

तो ये सब Topics पे आप Niche Blog बना सकते हैँ.


7) Affiliate Blog

दोस्तों अगर आप किसी Third Party की Product बेचकर उसमे Commison कमाना चाहते हैँ तो आप Affiliate Blog बना सकते हैँ.


Commison
Commison

आप Affiliate Blog मे Amazon और Flipkart जैसी E-Commerce Companies की Link Attach करके उसके Sell पे Commison ले सकते हो.

Read Also :- Affiliate markerketing kya hain?

8) Artist's Blog

अगर आपके पास Painting, Drawing और Photography जैसी कला हैँ तो आप Artist's Blog बना सकते हैँ.


9) Reverse Blog

Reverse Blog मे आप Guest Post के द्वारा अपना Blog बना सकते हो. Guest Post का मतलब होता हैँ की अगर आपके पास ज्यादा Knowledge नहीं हैँ तो आप किसी Expert के पास से Articles लिखवाकर Blog बना सकते हैँ.


10) Case Study Blog

अगर आप कोई Case Study कर रहे हैँ या कोई Research कर रहे हैँ तो आप अपनी Research को लोगो तक पहुंचाने के लिये Case Study Blog बना सकते हो.


11) Media Blog

अगर आप Blog मे Audio या Video को भी Attach करना चाहते हैँ या Multiple Instagram Posts को Attach करना चाहते हैँ तो आप Media Blog Start कर सकते हो.


12) Freelancing Bloggers

अगर आप किसी को Paid Services Provide करते हो और Bloggers के लिये Articles लिखना चाहते हो तो आप Freelancing Blogger बन सकते हो.

दोस्तों आपके पास जिसका भी ज्यादा Knowledge हैँ वो Topic पे आप Blog बना सकते हैँ.


# Blogging Start कैसे करे? 

How to Start Blogging?
How to Start Blogging?

Blogging Start करने के लिए जरुरी Steps आपको निचे दिए गये  हैँ.


1) Niche Select करे:-

अगर आप Blogging Start करना चाहते हैँ तो पहले आपको Niche Select करना जरुरी हैँ. आप को जिस Field मे ज्यादा Knowledge हैँ या आप जिस Field मे ज्यादा Intersted हो वो Field आप Select कर सकते हो.

आपको एक Niche Select करके सारे Articles वही Topic पर बनाना आपके लिये फायदेकारक रहता हैँ.


2) Domain Name Select करे:-

पहले आपको आपके Domain का Name रखना जरुरी होता हैँ. आप अपने Topic के Related भी कोई Domain Name रख सकते हैँ या तो अपने Name का भी Domain Name रख सकते हैँ.

उसके बाद आपको Search करना जरूरी हैँ की आप जो Domain Name रखना चाहते हो वो Available हैँ या नहीं. अगर available हैँ तो आप उसको Select कर सकते हो नहीं तो आपको Change करना रहेगा.

आपको अपने Domain Name के साथ Domain रखना भी जरुरी होता हैँ. तो आपकी जरुरत के हिसाब से आप Domain Select कर सकते हो.



हम आपको Domain की जानकारी दे देते हैँ तो आपको Select करने मे आसानी रहेगी.


# Domains


I) Top Level Domains:-

> Country Code Top Level Domains
अगर आप आपका Blog कोई Country के सिमित रखना चाहते हो तो आप Country Code Top Level Domain Select कर सकते हो.

हम आपको Country Code Top Level Domains के Examples बता देते हैँ.

• (.in) = ये Domain India के लिये सिमित रहता हैँ.

• (.au) = ये Domain Australia के लिये सिमित रहता हैँ.

• (.uk) = ये Domain United Kingdom के लिये सिमित रहता हैँ.

> Generic Top Level Domains
Generic Top Level Domains मे से आप अपनी जरूरियात के हिसाब से Domain Select कर सकते हो.

हम आपको Generic Top Level Domains के Example बता देते हैँ.

• (.com) = ये Domain Worldwide सिमित रहता हैँ और सबसे ज्यादा लोग यही Domain Select करते हैँ.

• (.net) = अगर आप Service Provider हैँ तो आप ये Domain को Select कर सकते हैँ.

• (.biz) = अगर आप कोई Business Website चलाना चाहते हो तो आप ये Domain को Select कर सकते हो.

• (.org) = अगर आप कोई Organization की Website बना रहे हो तो आप ये Domain Select कर सकते हो.

• (.info) = अगर आप कोई Information Provide कर रहे हैँ तो आप ये Domain को Select कर सकते हैँ.

II) Second Level Domains


> जो Domain मे दो Dot (.) आते हो वो Second Level Domain कहा जाता हैँ.

> Example

• (.co.in) = जिस Website के URL का Format ऐसा होता हैँ उसको हम Second Level Domain कहते हैँ.

III) Subdomain

Domain का जो Additional Part होता हैँ उसको हम Subdomain कहते हैँ.

> Example

• (.blogspot.com)

• (.wordpress.com)


3) Hosting Purchase करे:-

Domain Purchase करने के बाद आपको Hosting Purchase करना रहता हैँ.

Hosting इसलिए जरूरी हैँ क्युंकि Hosting Web Servers को Internet के साथ Connect करता हैँ और ज्यादा से ज्यादा Users को एक ही Time पे आपका Webpage Access करने के लिये Allow करता हैँ.



4) Theme Select करे:-

आपको आपके Topic के Related Theme Use करनी रहती हैँ. अगर आप Education के Related Blog बना रहे हो तो आपको Education के Related Theme Use करनी रहेगी.


5) Pages बनाये:-

आपको Pages बना ने जरुरी रहते हैँ क्युकी उससे Users को Visit करके Better Experience होता हैँ.

आपको ये 5 Pages बनाने रहते हैँ.

> About us

इस Page मे आप अपने Blog के बारे मे जानकारी दे सकते हैँ.

> Contact us
इस Page मे आप अपनी Contact Details दे सकते हैँ.

> Disclaimer
इस Page मे Responsibility दर्शायी जाती हैँ तो आप Google पे Discalimer Generator Search करके कोई भी Website पे Disclaimer Generate कर सकते हो.

> Privacy Policy
Privacy Policy मे Privacy Law लिखना रहता हैँ उसको आप Google पे Privacy Policy Generator Search करके Generate कर सकते हो.

> Terms & Conditions

आपको आपके Blog के लिये Terms & Conditions भी लिखनी रहती हैँ जो आप Google पे Terms and Condition Generator Search करके Generate कर सकते हो.


6) Layout Design करे:-

Layout Design करके आप अपने Blog को Attractive बना सकते हो.

Layout Design करने के लिये हम आपको Important Steps के बारे मे जानकारी दे देते हैँ.

> आपको पहले Fevicon लगाना रहेगा जो आपकी Website के URL के साथ Top मे दिखेगा.

> आपको Logo बना के Upload करना रहेगा ताकी लोग आपकी Website पर आये तो Attractive लगे.

> आपको आपकी Social Media Links को यहाँ पे Attach करना रहता हैँ क्युंकि अगर आप ये Links Attach करते हो तो लोग आपकी Profile मे आसानी से Visit कर सकते हैँ.

> उसके बाद आपको Categories बनानी रहती हैँ तो उसमे आप अपने Blogs को Categories मे रख सको.

> उसके बाद आपको Pages की Links को Layout मे add करना रहता हैँ.

> उसके बाद आपको आपकी Profile की Information Add करनी रहती हैँ.


7) Settings

अगर आप अपने Blog को Rank करना चाहते हो तो Settings करना बहुत जरुरी होता हैँ.

हम आपको Important Settings के बारे मे बता देते हैँ.

> आपको सबसे पहले आपके Blog का Title रखना पड़ेगा जो Catchy और Attractive होना चाहिए.

> उसके बाद आपको Description Add करना रहेगा उसमे आप लोगो को कया Information Provide करोगे उसके बारे मे लिखना रहता हैँ.

> उसके बाद आप जो भी Language मे Blog बनाने वाले हो वो Language Select करनी हैँ और आपके Country का Time Zone Select करना हैँ.

> उसके बाद आपको Meta Description Add करना रहेगा जो की Search Engine मे आपकी Website के Title के साथ दिखेगा.

> उसके बाद आपको Sitemap Generate करना रहता और Submit करना रहता हैँ.

> अगर आप अपनी Website के Traffic का Data देखना चाहते हो तो आप Google Analytics मे Account बना के उसको आपकी Website के साथ Link कर सकते हो.


8) Article लिखें :-

ये सब Process Complete होने के बाद आपको Article लिखना रहता हैँ और वो Article का Content Unique होना चाहिए.

अगर आप Minimum 500 Words का Article लिखते हैँ तो फायदेकारक रहता हैँ.


9) Promotion करे:-

जब आप Article लिखकर उसे Publish करते हैँ तो आपकी नयी Website पर अभी कोई Organic Traffic नहीं आएगा तो उसके लिये आपको Share करना पड़ेगा.


Social Media Apps
Social Media Apps

आप अपनी Website के URL को Whatsapp, Facebook, InstagramLinkedin और Tumblr जैसे Social Media Platform पर Share कर सकते हो.

आप अपने Website की URL का Backlink बनाकर किसी दूसरे Blogger के Blog मे Attach भी कर सकते हैँ लेकिन जो आपका Topic हैँ उसके Related Topics के Blog मे Backlinks बनानी चाहिए.

दोस्तों हम आपको बता दे की आप Blogging के लिये कोई भी Blogging Platform का Use कर सकते हैँ.

जिसमे Blogger, Wordpress और Wix हैँ जहा पे आप Free मे Blog बना सकते हैँ और Publish कर सकते हैँ लेकिन आपको Domain और Hosting के लिये पैसा देना पड़ेगा.

अब आपको Blogging के फायदे बता देते हैँ की आपको Blogging क्यों Start करना चाहिए?


# Benefits of Blogging

Benefits of Blogging
Benefits of Blogging

1) अगर आप Blogging Start करते हैँ तो Google Adsense से Approval लेकर आप Future मे पैसे कमा सकते हैँ.

2) अगर आप किसी Field मे Expert हो और आप उसपे Blogs बनाते हो तो आपको उस Field मे ज्यादा Experience मिल सकता हैँ.

3) जब आप अपने Blogs को लोगो के साथ Share करते हो तो जिन लोगो को उसकी Knowledge की जरूरियात होती हैँ उनलोगो को हेल्प होती हैँ.

4) आप खुद को या खुद की कोई Brand को Blogging के द्वारा Promote कर सकते हो.

5) आप अपनी Thinking Power को bdha सकते हो.

दोस्तों ये जानकारी थी Blogging के बारे मे, अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो हमको Comments करके जरूर बताये.

जय हिन्द जय भारत |